राज्य के 20 राजकीय प्राथमिक विद्यालय अब राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में क्रमोन्नत



Rajastha ka Master: राजस्थान के 20 राजकीय प्राथमि​क विद्यालयों को क्रमोन्नत कर उन्हें राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बनाने के लिए प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय बीकानेर की ओर से आदेश जारी हो गए हैं।

प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने अपने आदेश में कहा है कि बजट घोषणा के अनुसार शासन उप सचिव के आदेश के संदर्भ में राप्रावि में क्रमोन्नत किये जारी की स्वीकृति मिल गई है।

इसके लिए तीन शर्तों की पालना करनी होगी। जिनमें पहली विद्यालयों को सत्र 2020—2021 से शुरू किया जाएगा। दूसरी, जो रिजर्व पद हैं, उनके अलावा नये पद सृजित नहीं किये जाएंगे। और तीसरी शर्त के अनुसार राज. स्कूल शिक्षा परिषद द्वारा क्रमोन्नत विद्यालयों में मानंदडानुसार ढांचागत सुविधाओं के विकास हेतु आवश्यक प्रस्ताव समग्र शिक्षा अभियान के आगामी वित्त वर्ष में भारत सरकार को स्वीकृति के लिए प्रस्ताव भेजा जाएगा।

जिन विद्यालयों को क्रमोन्नत किया गया है, उनमें एक विद्यालय अजमेर में केंकडी का, दो बाडमेर में बायतू और श्यो के, भीलवाड़ा में जहाजपुर का, बीकानेर में खाजूवाला, चित्तोडगढ़ में बेगू, धौलपुर में राजाखेड़ा, डूंगरपुर में चौरासी के दो, गंगानगर में करनपुर, हनुमानगढ़ में नोहर, झुंझुनू में नवलगढ़, जोधपुर में लोहावट और शेरगढ़, पाली में सोजत, राजसंमद में नाथद्वारा, सीकर में फतेहपुर, खण्डेला, लक्ष्मणगढ और सीकर के विद्यालय शामिल हैं। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post