राज्य में ऑनलाइन पढ़ाई की तैयारी, सिलेबस में होगी 30 से 40 प्रतिशत कटौती

Rajasthan ka Master: अभिभावक व स्टूडेंट्स की सहमति से ही निजी स्कूल कर सकेंगे ऑनलाइन पढ़ाई..-शिक्षा मंत्री डोटासरा

राजस्थान में कक्षा 1 से 12 तक के स्टूडेंट्स के लिए जल्द ही सरकार की ओर से ऑनलाइन पढ़ाई का मसौदा तैयार करने के साथ ही सिलेबस में लगभग 30 से 40 प्रतिशत कटौती की जाएगी।

मंगलवार को शिक्षा राज्य मंत्री व पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने ऑनलाइन पढ़ाई का मसौदा तैयार करने में मौजूदा शिक्षण सत्र में सिलेबस में कटौती करने की बात कही है। 

उन्होंने कहा कि सरकार ऑनलाइन पढ़ाई की गाइड लाइन तैयार कर रही है। वही स्कूल खुलने के आधार पर सिलेबस में बड़ी कटौती भी की जाएगी।

पीसीसी चीफ बनने के बाद शिक्षा राज्यमंत्री ने कहा कि स्कूल शुरू होने के लिए केंद्र सरकार की गाइड लाइन का इंतजार किया जा रहा है। गाइडलाइन आने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से चर्चा की जाएगी। 

इसके बाद प्रदेश के निजी और सरकारी स्कूल खोलने को लेकर नीति निर्धारित की जाएगी। तब तक स्कूल बच्चों के लिए बंद ही रहेंगे। 

निजी स्कूलों की समस्या पर उन्होंने कहा कि सरकार उनकी समस्या समझती है। स्कूल संचालक, अभिभावक और विद्यार्थी हित को ध्यान में रखते हुए सरकार आगे कदम बढ़ाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार हर वर्ग का ध्यान रखते हुए काम करेगी।

ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प खुला..
डोटासरा ने निजी शिक्षण संस्थाओं की ऑनलाइन पढ़ाई की विकल्प को सही ठहराया है। 

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में अपने विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प शिक्षण संस्थान देते हैं तो सरकार को उसे कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन इसके लिए विद्यार्थी व अभिभावकों की सहमति लेना आवश्यक है। राज्य सरकार भी इसके लिए गाइडलाइन तैयार कर रही है।

अगले महीने स्कूलों में होंगे नए शिक्षक...
दितीय श्रेणी शिक्षकों के मामले में। शिक्षा राज्यमंत्री डोटासरा ने कहा कि बेरोजगारों की ओर से नियुक्ति की मांग उठाई जा रही थी। सरकार ने उनके पक्ष में न्यायालय में मजबूत ढंग से पैरवी करवाई है। 

अब चयनित अभ्यर्थियों के लिए मंडल आवंटन की कवायद शुरू कर दी गई है। करीब 9000 अभ्यर्थी सितंबर महीने में सरकारी स्कूलों में नियुक्त कर दिए

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post