इंटरनल असेसमेंट के आधार पर ग्रेस मार्क्स देकर स्टूडेंट्स को किया जाए प्रमोट

Rajasthan ka Master:
देशभर में कोरोना महामारी संक्रमण के तेजी से फैलने के कारण अब मुख्य परीक्षा के बाद अब सीबीएसई की कंपार्टमेंट परीक्षा को भी रद्द करने की मांग  उठी है।

छात्र संघ ने इस संबंध में केंद्र समेत विभिन्न राज्य शिक्षा मंत्रियों को चिट्ठी लिखी है।
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने कुछ दिन पहले कक्षा 10वीं और 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाओं की घोषणा की थी। 

13 अगस्त 2020 से ही दोनों कक्षाओं के लिए रेगुलर और प्राइवेट स्टूडेंट्स की ओर से आवेदन की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई थी। लेकिन अब इस परीक्षा को भी रद्द करने की मांग उठने लगी है।

राष्ट्रीय छात्र संघ ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (AISA) ने सीबीएसई स्टूडेंट्स की ओर से शिक्षा मंत्रियों को इस संबंध में चिट्ठी लिखी है।

आइसा (AISA) के अनुसार, केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के साथ-साथ सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों को भी परीक्षा रद्द करने की मांग करते हुए चिट्ठी भेजी गई है।
चिट्ठी में क्या लिखा है?

आइसा के अनुसार, चिट्ठी में लिखा है कि '10वीं-12वीं की मुख्य परीक्षाओं के दौरान बिना परीक्षा बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स को मार्क्स दिए गए हैं। 

जिन विषयों की परीक्षा नहीं हुई, उनमें बिना परफॉर्मेंस उदार तरीके से अंक दिए गए हैं। इसलिए जिन स्टूडेंट्स को कंपार्टमेंट दिया गया है, उन्हें भी इंटरनल असेसमेंट के आधार पर ग्रेस मार्क्स देकर प्रमोट किया जाए।

खास तौर पर बिहार, मुंबई और असम में बाढ़ व अन्य आपदाओं के कारण कई स्टूडेंट्स के पास संसाधनों की कमी हो गई है। 

कई ऐसे स्टूडेंट्स हैं, जिन्हें अपना घर छोड़ना पड़ा है, जिनके पास शिक्षक, स्टडी मैटीरियल्स की सुविधा नहीं है। वे पहले ही मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे हैं।

इसके अलावा जिन स्टूडेंट्स ने कॉलेजों में एडमिशन ले लिया है। फर्स्ट ईयर के लिए बड़ी रकम फीस के तौर पर भर दी है, उनका साल और पैसा भी बर्बाद होगा। महामारी के बीच परीक्षाएं कराकर स्टूडेंट्स और पैरेंट्स की जिंदगी खतरे में डाली जा रही है।'
सीबीएसई ने क्या कहा?

पहले भी कंपार्टमेंट परीक्षा को लेकर सवाल उठे थे। तब सीबीएसई ने कहा था कि 'अगर कंपार्टमेंट परीक्षा नहीं होती है तो बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स के भविष्य पर बुरा असर होगा। बोर्ड के पास इस परीक्षा को रद्द करने के कई रिक्वेस्ट आए हैं। लेकिन सीबीएसई इसे स्वीकार नहीं कर सकता।'

बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में भी कहा था कि 'जो बच्चे एक या ज्यादा विषय में फेल हुए हैं, या जो नए असेसमेंट स्कीम के तहत मिले अंक से खुश नहीं हैं, उन्हें कंपार्टमेंट परीक्षा देकर रिजल्ट बेहतर करने का अवसर दिया जा रहा है। बोर्ड पूरे एहतियात के साथ परीक्षा कराएगा।

आज आवेदन की अंतिम तारीख
इधर सीबीएसई की 10वीं व 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए आवेदन करने की आज अंतिम तारीख है। 

बिना लेट फीस आज (20 अगस्त 2020) शाम 5 बजे तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते था। जबकि लेट फीस के साथ 22 अगस्त 2020 शाम 5 बजे तक आवेदन किया जा सकता है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post