शिक्षकों के वेतन से जबरन वसूली का शिक्षक संघ शेखावत ने किया विरोध

Rajasthan ka master: राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत ने  राज्य सरकार व्दारा मंत्रिमंडल की बैठक में राज्य कर्मचारियों के वेतन से एक दिन का वेतन प्रतिमाह कटौती करने के निर्णय की कड़े शब्दों में निन्दा करते हुए वेतन कटौती के निर्णय को वापिस लेने की मांग की है।
        
जिला मंत्री, भवानी शंकर शर्मा, जयपुरने बताया कि एक ओर सरकार आर्थिक संकट का बहाना लेकर कर्मचारियों के मार्च माह का वेतन स्थगित किये हुये है एवं कर्मचारियों के वेतन से प्रतिमाह एक दिन का वेतन कटौती करने का निर्णय ले रही है।

 दूसरी ओर विधायकों को सरकारी खर्च पर विदेश यात्राऐं कराने, इनोवा कार खरीदने एवं कोरोना के नाम पर चर्चा के बहाने 3 दिवस विधानसभा चलाकर 13 दिवस का खर्चा राज्य की जनता व कर्मचारियों पर थौपने तथा पूर्व विधायकों की पैशन बढ़ाने व इन्हें सरकारी खर्चे पर विदेश यात्राएं कराने का निर्णय ले रही है।

 जिला मंत्री, जयपुर भवानी शंकर शर्मा ने सरकार के इस कृत्य का विरोध करते हुए कहा कि कर्मचारियों के वेतन से प्रतिमाह वेतन कटौती करना कोरोना महामारी के इस दौर में न्यायोचित नहीं है। 

उन्होंने सरकार पर कर्मचारियों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा कि  सरकार ने ना केवल डेढ़ वर्ष से संवादहीनता की स्थिति बनाई है बल्कि चुनाव पूर्व किये गये वायदों को भी पूरा नहीं कर रही है।  
       
राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत ने राज्य सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि  यदि सरकार ने कर्मचारियों के वेतन से प्रतिमाह एक दिन के वेतन कटौती करने के निर्णय  को वापिस नही लिया तो संगठन सरकार के वेतन कटौती के निर्णय के खिलाफ राज्यव्यापी  आंन्दोलन करेगा।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post