स्कूल संचालक को हनीट्रैप में फंसाया, बहन से मांगी 50 लाख फिरौती

जयपुर। मुरलीपुरा थाने में हनी ट्रैप की साजिश और बयान बदल कर केस रफा-दफा करने के बदले ₹50 लाख की फिरौती फिरौती मांगने का मामला दर्ज हुआ है। 

मुरलीपुरा में शेखावाटी स्कीम की रहने वाली मीनाक्षी शर्मा पत्नी संजय शर्मा ने 
एफआईआर नंबर 50/21 आईपीसी सेक्शन 384 ,120 बी के तहत एक्सटॉर्शन( जबरन वसूली) और आपराधिक षड्यंत्र का मामला दर्ज कराया है।

मीनाक्षी शर्मा ने बताया कि उसके भाई मृत्युंजय आत्रेय चोमू में स्कूल संचालक और राजनीतिक प्रतिष्ठा वाले व्यक्ति है। पिछले वर्ष चोमू की ही रहने वाली एक लड़की निधि शर्मा पुत्री अशोक कुमार शर्मा निवासी केशव नगर चोमू ने उसके भाई के मृत्युंजय आत्रेय के खिलाफ चोमू थाने में छेड़छाड़ और आईटी एक्ट में एफआईआर नंबर 200 /20 दर्ज कराई थी, जिसमें पुलिस ने उसके भाई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 

क्योंकि मृत्युंजय आत्रे मीनाक्षी का इकलौता भाई है और उनकी पत्नी हाउसवाइफ है ऐसे में मीनाक्षी ही मृत्युंजय की जमानत और अन्य कानूनी कार्रवाई कर रही थी। इस दौरान बजरंग लाल बटवाल नामक शख्स ने उससे संपर्क किया और बताया कि वह निधि का चाचा है। 

अगर आप मुझे 18-20 लाख रुपए दे दो तो मैं निधि के बयान बदलवाकर तुम्हारे भाई को बचा सकता हूं। निधि के बयान बदलते ही केस भी रफा-दफा हो जाएगा और तुम्हारा भाई जेल से बाहर आ जाएगा क्योंकि मृत्युंजय मेरा इकलौता भाई है।

ऐसे में उसे बचाने के लिए मुझे उम्मीद की एक किरण नजर आई तो मैंने बजरंग बटवाल से बातचीत के दौरान निधि से बात कराने के लिए कहा बजरंगी अपने मोबाइल से मेरी बात निधि से कराई जिसमें निधि ने कहा कि पैसे दे दो तो वही तुम्हारा भाई बच सकता है वरना उसे कोई नहीं बचा सकता। 

तब मुझे समझ में आया कि गलती मेरे भाई की नहीं है बल्कि वह हनीट्रैप की साजिश का शिकार हो गया जिसमें उसके पद और प्रतिष्ठा को देखते हुए निधि ने उसे अपने जाल में फंसाया और फिर उससे अश्लील वार्तालाप और वीडियो चैट के जरिए बातचीत बढ़ाकर उकसाने के बाद उसके वीडियो क्लिप्स रिकॉर्ड कर लिए जिनके आधार पर ब्लैकमेल किया मेरा भाई ब्लैकमेल नहीं हुआ तो एफ आई आर दर्ज करा कर उसे जेल भिजवा दिया। 

हनी ट्रैप में फंसे  भाई को बचाने के लिए मैंने इन लोगों से संपर्क बढ़ाया और  सबूत भी जुटाने लगी  इनके मेरे पास कॉल आते थे मैंने भी कॉल किया जिसकी मैंने रिकॉर्डिंग कर ली  रिकॉर्डिंग में यह लोग साफ-साफ पैसे लेकर बयान बदलने की बात कह रहे हैं। 

मैंने निधि और उसके चाचा बजरंग बटवाल से बयान बदलने और पैसे के लेनदेन के ऑफर की गारंटी मांगी तो उन्होंने मुझे हस्ताक्षरशुदा चैक एडवांस में देने की बात कही और मुझसे पहली किस्त के रूप में ₹50000 एडवांस ले गए। 

निधि उसके चाचा और उसके परिवार जनों के बारे में मैंने जानकारी जुटाने शुरू की तो पता चला कि इन लोगों ने वर्ष 2019 में भी चोमू थाने में ही एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ भी  निधि की तरफ से 690 / 19 नंबर एफ आई आर दर्ज कराई थी। जिसमें बाद में पुलिस ने एफआर लगा दी। 

उस f.i.r. के आरोपी से में मिली और पूरे मामले की जानकारी की तो पता चला कि पैसे का लेनदेन कर निधि ने उस मामले में भी बयान बदल कर आरोपी को छुड़वा दिया था इससे पूरा खेल मेरे समझ में आ गया निधि और उसके परिवार के लोग जिनमें उसके पिता उसकी मां चाचा और अन्य शामिल हैं।

यह लोग इज्जतदार लोगों को अपना शिकार बनाते हैं और उन्हें हनीट्रैप के जाल में फंसा कर काली कमाई का गोरखधंधा चलाते हैं यह लोग पहले मुझसे 18-20 रुपए मांग रहे थे मैंने 50000 एडवांस दे दिए तो अब  50 लाख रुपए मांगने लगे हैं।

इस पर मुरलीपुरा थाने में मैंने सभी साक्ष्यों के साथ इनके खिलाफ षड्यंत्र रचने और जबरन वसूली की एफ आई आर दर्ज कराई है मुझे आप लोगों से न्याय की उम्मीद है कि ऐसे लोगों को पुलिस जांच कर सलाखों के पीछे भेजें ताकि समाज में गंदगी फैलाने वालों को सबक मिल सके।

मुरलीपुरा थाने में दर्ज कराई गई f.i.r. में फिरौती मांगने वाले बजरंग बटवाल के अलावा निधि शर्मा उसके पिता अशोक कुमार शर्मा, उसकी मां इंदु शर्मा,भाई कृष्णकांत और उसकी बहन शालू पर जबरन वसूली के लिए षड्यंत्र रचना से करने का आरोप है पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मेरे भाई को न्याय दिलाने में मेरी मदद करें: मीनाक्षी शर्मा

मैं आपके समक्ष मेरी तरफ से दर्ज कराई गई f.i.r. के साथ ही वह सभी साक्ष्य भी प्रस्तुत कर रही हूं जो इन बातों को साबित करने के लिए पर्याप्त हैं।
1. शालू और निधि की रिकॉर्डिंग की स्क्रिप्ट
2. मेरे द्वारा दर्ज कराई गई f.i.r. की कॉपी।
3.  निधि के द्वारा पिछले साल भी एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ दर्ज कराएगी छेड़छाड़ की एफ आई आर और उसमें बाद में लगी पुलिस की एफआर की कॉपी।
4. एक्सटॉर्शन मनी के बदले गारंटी के लिए बजरंग बट वालों की तरफ से मुझे दिए गए खाली चेक की कॉपी।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post