स्कूल संचालक को हनी ट्रेप में फंसाने का मामला, महिला ने मांगा न्याय

जयपुर। मुरलीपुरा थाने में हनी ट्रैप की साजिश और  बयान बदलने की एवज में 50 लाख की फिरौती मांगने का मामला दर्ज हुआ है।

मुरलीपुरा के शेखावाटी स्कीम की रहने वाली मीनाक्षी शर्मा ने एक FIR दर्ज करवाई है, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि उनके भाई मृत्युंजय आत्रेय चौमूं में एक निजी स्कूल संचालक हैं।

राजनीतिक प्रतिष्ठा वाले व्यक्ति हैं। पिछले वर्ष चौमूं की रहने वाली एक लड़की ने उनके भाई के खिलाफ छेड़छाड़ और आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें उनके भाई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जो आज तक जेल में है।

 मीनाक्षी ने आरोप लगाया कि पिछले दिनों उनसे एक व्यक्ति ने संपर्क किया।जिसने अपने आप को युवती का चाचा बताया और दावा किया कि वह 20 लाख रुपए की व्यवस्था कर दें, तो मुकदमे को रफा-दफा करवा सकते हैं और बयान बदलवा सकते हैं। हमने जानकारी की तो वह युवती का चाचा ही निकला।

अब मोबाइल गुम होने का बहाना
मीनाक्षी ने आरोप लगाया कि पुलिस ने 8 माह पूर्व उनके भाई की गिरफ्तारी के समय उनका मोबाइल तो जब्त कर लिया था, लेकिन युवती से मोबाइल मांगा तो बहाने बनाने लगी, उसके बाद में फिर जब पुलिस ने दोबारा नोटिस दिया तो युवती ने गुमशुदगी दर्ज करा दी। 

ऐसे में उन्हें संशय है कि युवती झूठा मामला बना कर उसके भाई को गिरफ्तार करवा दिया। गौरतलब है कि महिलाओं के जरिए आजकल अमीर पुरुषों को फंसाने के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post