कोरोना को बढ़ता देख अभिभावक संघ ने लगाई स्कूलें बन्द करने की गुहार

Rajasthan ka master: राज्य सरकार बढ़ते कोरोना मामले को ले गंभीरता से, स्कूलों को बंद करने के दे आदेश

जयपुर। पिछले एक सप्ताह से प्रदेश ही नही बल्कि पूरे देश मे कोरोना महामारी के नए आंकड़े पूरे देश को चिंतित कर रहे है, केवल पब्लिक प्लेस ही नही निजी और सरकारी स्कूलों में भी गंभीर आंकड़े देखने को मिल रहे है। 

संयुक्त अभिभावक संघ ने राज्य सरकार से अपील की है कि वह बढ़ते कोरोना के मामलों को गंभीरता से लेंवे और सरकारी व निजी स्कूलों सहित तमाम सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने के आदेश देंवे।

संयुक्त अभिभावक संघ प्रदेश अध्यक्ष अरविंद अग्रवाल ने कहा कि कोरोना के नए स्टेन ने प्रदेश के अभिभावकों के माथे पर चिंता की एक और लकीर खिंच दी है, राज्य का अभिभावक बिना पढ़ाई के फीस चुकाने को लेकर अभी तक उभरा भी नही है कि अब कोरोना के नए संक्रमण स्टेन ने अभिभावकों को चिंता में डाल दिया है। 

प्रदेश के कई जिलों सहित आस-पास के पड़ोसी राज्यों के स्कूलों में भी कोरोना के चोकाने वाले मामले सामने आ रहे है, किंतु सरकार इससे कोई सबक नही ले रही है केवल नाइट कर्फ्यू लगाना कोई विकल्प नही हो सकता है सरकार को स्कूलों पर भी ध्यान देना चाहिए। 

संयुक्त मंत्री मनोज जसवानी ने कहा कि निजी स्कूल संचालक केवल हठधर्मिता का प्रदर्शन कर बच्चों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे है जबकि उनको ध्यान रखना चाहिए कि अभिभावकों की बच्चों के प्रति गहरी आस्था है। 

निजी स्कूल संचालक अभिभावकों की इसी आस्था को मोहरा बनाकर अभिभावकों से ना केवल मोटी-मोटी फीस वसूल रहे है बल्कि वह बच्चों को जबर्दस्ती स्कूल भेजने का दबाव भी बना रहे है। 

अकेले जयपुर शहर की बात करे तो राज्य सरकार की गाइडलाइन तक का पालन ना सरकार खुद करवा रही है और ना ही प्रशासन ध्यान दे रहा है। 

कक्षा 1 से 5 वीं तक स्कूलों को बंद करने के आदेश राज्य सरकार ने दिए हुए है उसके बावजूद बच्चों को स्कूल बुलाकर उनकी जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है। 

जयपुर के मानसरोवर, विद्याधर नगर सहित विभिन्न इलाकों से संयुक्त अभिभावक संघ के हेल्पलाइन नम्बर पर बड़ी शिकायत अभिभावकों द्वारा दर्ज करवाई गई है। 

राज्य सरकार से अपील करते है कि वह कोरोना महामारी को देखते हुए स्कूलों को फिलहाल कुछ दिनों के लिए बंद करने के आदेश तत्काल देंवे। अगर स्कूलों की लापरवाही अगर कोई बड़ी दुर्घटना होती है तो वह पूरी तरह से राज्य सरकार की ज़िम्मेदारी होगी। 

अभिभावकों से अपील सरकार की गाइडलाइन का पालन करे, स्कूलों के किसी भी प्रलोभन में ना आये

प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक जैन बिट्टू ने जानकारी देते हुए अभिभावकों से अपील की है कि वह स्कूलों के किसी भी प्रलोभन में ना आये। केवल राज्य सरकार ने जो कोरोना संक्रमण को लेकर गाइडलाइन जारी की गई है,उसे फॉलो करें।

राज्य सरकार ने कक्षा 1 से 5 वीं तक सभी तरह के स्कूलों को बंद किया हुआ है साथ ही सभी बच्चों को प्रमोट करने के आदेश भी दिए है। 

ऐसी स्थिति में अभिभावक बच्चों के एक्जाम, रिजल्ट और पढ़ाई को लेकर बिल्कुल भी चिंतित ना होंवे। कोरोना संक्रमण को ध्यान में सतर्कता बरते और बच्चों को स्कूल भेजने की बिल्कुल भी जल्दबाजी ना करें। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post