रीट एक्जाम तिथि विवाद: जैन समाज को मिला संयुक्त अभिभावक संघ का साथ

Rajasthan ka Master:

संघ ने कहा " राज्य सरकार को किसी भी समाज की भावनाओ को ठेस पहुंचाने का कोई अधिकार नही, जैन समाज की मांगों को सुने सरकार " 

जयपुर। रीट एक्जाम की तिथि परिवर्तन की मांग को लेकर पिछले चार दिनों से शहीद स्मारक पर धरना दे रहे जैन समाज के विभिन्न संगठनों को बुधवार को संयुक्त अभिभावक संघ का भी साथ मिला। 

बुधवार को संघ प्रदेश अध्यक्ष अरविंद अग्रवाल, प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक जैन बिट्टू और जयपुर जिला अध्यक्ष युवराज हसीजा ने धरना स्थल पर पहुंचकर जैन समाज का साथ दिया। 

प्रदेश अध्यक्ष अरविंद अग्रवाल ने कहा कि जैन समाज अहिंसक समाज है कभी भी जैन समाज ने अनैतिक मांग नही की है। सदैव अहिंसा के मार्ग पर चलते हुए विश्व मे अलग पहचान बनाई है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी सहित अनेकों महापुरुषों ने अहिंसा के मार्ग को अपनाकर देश और संस्कारों का सम्मान करवाया है। 

राज्य सरकार को भी जैन समाज की भावनाओ की कदर करनी चाहिए, भगवान महावीर स्वामी को केवल जैन समाज ही नही बल्कि अहिंसा को अपनाने वाले पुजारी भी मानते है। वर्षो से महावीर जयंती पर राष्ट्रीय अवकाश घोषित है।

साथ केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार किसी भी राष्ट्रीय अवकाश पर किसी भी तरह की परीक्षा प्रतियोगिता आयोजित नही हो सकती है। उसके बावजूद राज्य सरकार और शिक्षा विभाग ने महावीर जंयती पर परीक्षा की निर्धारित की। 

जयपुर जिला अध्यक्ष युवराज हसीजा ने कहा कि रीट एक्जाम को लेकर राज्य सरकार गंभीर नही है केवल बेरोजगार युवाओं को धोखे में रखने को लेकर सोची समझी साजिश के तहत यह प्रतियोगिता आयोजित की गई है, जिसके चलते यह प्रतियोगिता ही रद्द कर दी जाए। जिससे बेरोजगारों में समाज के प्रति गलत संदेश जा सके और युवा बेरोजगार साथी भृमित हो सके।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post